Honor killing

#public issue “hello life” 2020

भारत के नागरिकों की समस्याओं उनके समाधान तथा उनके नागरिक अधिकारों के प्रति उन्हें जागरूक करने के लिए सदैव तत्पर है।

ऑनर किलिंग भारत में एक बड़ी समस्या बनकर उभरी है आमतौर पर हम ऑनर किलिंग को यू परिभाषित कर सकते है “परिवार के किसी सदस्य विशेष रूप से महिला सदस्य की उसके सगे संबंधियों द्वारा होने वाली हत्या को ऑनर किलिंग कहा जाता है। ये प्रायः परिवार और समाज की प्रतिष्ठा के नाम पर की जाती है।”

हाल ही में मैंने अपने दोस्तों से ऑनर किलिंग पर चर्चा की। जिनकी उम्र 18 से 28 वर्ष की है।

जब मैंने उनसे  जीवन साथी चयन करने से सम्बंधित कुछ सवाल किए तो उनमें से 80% का जवाब ये था कि  उनके जीवन साथी का चयन उनके माता पिता करेगे।

सिर्फ 20 % ने ही खुद से जीवन साथी चयन करने की बात स्वीकार की।

आंकड़े चोंकाने वाले थे तो मैंने उन्हें भारतीय संविधान द्वारा दिए गए नागरिक अधिकारों को उन्हें समझाने की कोशिश की।

यु तो भारतीय संविधान का अनुच्छेद 14, 15, 19 और 21 के तहत भारत के समस्त नागरिक को समानता का अधिकार, नागरिकों के साथ जाति, धर्म, और लिंग के आधार पर भेदभाव न करना , समस्त नागरिकों को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता तथा नागरिकों को गरिमा के साथ जीवन जीने की स्वतन्त्रा प्रदान करता है।

संवेक्षण में यह बात सामने आयी की कुछ जोड़े जो आपस में एक दूसरे से बोहोत प्यार करते थे, सिर्फ इसलिए  शादी नहीं की क्योकि उनकी जाति और धर्म अलग थे, और अगर वो शादी कर भी लेते तो उन्हें अपने ही परिवार वालों से खतरा महसूस होने का डर था।

प्रिवेंशन ऑफ क्राइम इन द नेम ऑफ ऑनर बिल, 2010:

इस बिल में यह प्रावधान किया गया है, व्यस्क व्यक्तियों द्वारा लिए गए विवाह के निर्णय का विरोध माता पिता और खाप पंचायत द्वारा करना पूर्णता अवैध माना जायेगा।

ऑनर किलिंग मानवाधिकारों के उल्लंघन के साथ- साथ अनुच्छेद 21  के अनुसार गरिमा के साथ जीने के अधिकार का उल्लंघन भी है।

यह देश में सहानुभूति, प्रेम, करुणा, सहनशीलता जैसे गुणों के अभाव को और बढ़ाने का कार्य करता है।

विभिन्न समुदायों के बीच राष्ट्रीय एकता, सहयोग आदि की धारणा को बढ़ावा देने के लिये एक बाधक का कार्य करता है।

#save humanity

Translate English

Public issue “hello life” 2020

The citizens of India are always ready to solve their problems and to make them aware of their civil rights.

Honor killing has emerged as a major problem in India, usually we can define Honor Killing as “the killing of a member of a family, especially a female member by her immediate relatives, is called Honor Killing. Society is done in the name of prestige. “

Recently I discussed Honor Killing with my friends. Those who are 18 to 28 years of age.

When I asked him some questions related to choosing a life partner, the answer of 80% of them was that their parents would choose their life partner.

Only 20% admitted to choosing a life partner by themselves.

The figures were about to be bitten, so I tried to convince them of the civil rights granted to them by the Indian Constitution.

Under Article 14, 15, 19 and 21 of the Indian Constitution, the right to equality to all citizens of India, not to discriminate against citizens on the basis of caste, religion and sex, freedom of expression to all citizens and dignity to citizens. Provides freedom to live life with

It was revealed in the survey that some couples who loved each other very much did not get married because their caste and religion were different, and if they got married, they would feel threatened by their own family. Was afraid of

Prevention of Crime in the Name of Honor Bill, 2010:

This provision has been made in this bill, it will be considered illegal to oppose the decision taken by the adult person by the parents and Khap Panchayat.

Honor killing is a violation of human rights as well as a right to live with dignity according to Article 21.

It works to further increase the lack of qualities like sympathy, love, compassion, tolerance in the country.

Acts as an impediment to promote the concept of national unity, cooperation etc. among various communities.

#save humanity

Indian beauty

# public issue “hello life” 2020

भारत को सोने की चिड़िया कहते है, क्योकि भारत ने दुनिया को शांति, ज्ञान, और मानवता का संदेश दिया। मुझे मेरे भारतीय होने पर गर्व है। जय हिंद 🇮🇳

India is called the golden bird, because India gave the world the message of peace, knowledge, and humanity. I am proud to be my Indian. Jai Hind 🇮🇳

International Yoga Day, Father’s day, world’s Music Day

Public issuehello life” 2020

आज हम सभी ने International Yoga Day, Father’s Day, World Music Day को celebrate किया।

आज मैंने अपने जीवन के सबसे खूबसूरत पल को जिया, दिन की शुरुआत योग से हुयी, काफी दिनों बाद पापा के साथ चाय पीने का मौका मिला, साथ ही आज मैंने मेरे मन को जो गीत पसंद है उन्हें भी मैंने खूब गया।

आज का दिन मेरे लिए ऊर्जा से भरा हुआ था,मैं बहुत खुश हूँ। आप जानते है हम तेज़ी से भागती अपनी जिंदगी में थोड़ा पास से देखे तो ये दिन हमें आत्मचिंतन करने को कहते है, और हमें कहते है आप खुद में झांक कर देखों क्या वाकई आप खुश हो, अंदर से जवाब आएगा नहीं।

आज हम तनाव में डूबते जा रहे, हम सब की अलग अलग समस्या हो सकती है। मगर हम सब का तनाव दूर करने का एक ही मार्ग हो सकता है। यदि हम नित्य प्रातः काल योग करे, ज्ञान रूपी पुंज को जानने की कोशिश करे, अपने परिवार के साथ समय बिताये और अपने पसंद के गाने गाये।

मित्रों public issue “hello life” 2020 आप से ये अपील करता है कि अपने जीवन को तनाव मुक्त रखने के लिए योग को अपने दिनचर्या में शामिल करे।अपने परिवार के साथ कुछ समय जरूर बिताये, और अपने पसंद के गीत गुनगुनाते रहे।

#save humanity

Translate English

Today we all celebrated International Yoga Day, Father’s Day, World Music Day.

Today I lived the most beautiful moment of my life, started the day with yoga, after a long time I got a chance to drink tea with my father, and today I also enjoyed the song that I like.

Today was a day full of energy for me, I am very happy. You know, if we look a little closer in our life, running fast, then this day we are asked to think independently, and we are told to look into yourself and see if you are really happy, the answer will not come from inside.

Today we are drowning under stress, we all may have different problems. But there can be only one way to relieve all our stress. If we do yoga in the morning, try to know the pool of knowledge, spend time with our family and sing songs of our choice.

Friends public issue “hello life” 2020 appeals to you to include yoga in your daily routine to keep your life stress-free. Spend some time with your family, and keep humming songs of your choice.

#save humanity

International Yoga day

#Yoga at Home,Yoga with Family

योग क्या क्या है?

योग संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ जोड़ना होता है। योग के माध्यम से हम अपने शरीर के सभी अंगों के साथ जुड़ा हुआ तथा सन्तुलित महसूस करते है।

योग एक आध्यात्म चिंतन है,जिसकी एक अवस्था में पहुचाने के बाद हम मानव रूपी काया के अन्दर विद्यामान ज्ञान रूपी प्रकाश की पुंज ज्योति को प्राप्तया करते है।

Public issue “hello life” 2020

योग करे, निरोग रहे।

Translate English

What is Yoga?

Yoga is a Sanskrit word which means to add. Through yoga we feel connected and balanced with all the parts of our body.

Yoga is a spirituality contemplation, after reaching a state in which we attain the light of light in the form of knowledge in human body.

Public issue “hello life”2020

Do yoga, be healthy.

चीन विस्तारवादी नीति china expansionary policy

Public issue”hello life”2020चीन अपने विस्तार विस्तारवादी नीति से बाज नहीं आ रहा,जिससे सीमा पर भारत, चीन के बीच विवाद की स्तिथि बनाती जा रही,कुछ मीडिया से मिल रही रिपोर्ट के मुताबिक सोमवार आधीरात के करीब चीन और भारतीय जवानों के बीच गलवान घाटी में दोनों सेनाओं के बीच झड़प की स्तिथि बनी जिसमें भारत के 3 जवान शहीद हो गए, साथ ही चीन के भी कुछ सैनिक घायल हुए।जिस समय पूरी मानवता कोरोना वैश्विक महामारी की चपेट में हैं, ऐसे समय चीन अपने विस्तारवादी नीति के तहत भारत, ताइवान और साउथ चाइना सी में अपनी दादागिरी दिखा रहा।1.5B आबादी वाले चीन के नागरिकों की स्तिथि बिल्कुल ठीक नहीं, संविधान में संसोधन कर वहा के नागरिकों के लोकतान्त्रिक अधिकार पूरी तरह से समाप्त कर दिए गए है सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रपति शी चिंगपिंग पूरी तरह से तानाशाही रुख अपना रहे। वहाँ के नागरिकों के मानवाधिकार का हनन हो रहा।दुनिया को भारत ने गौतम बुद्ध,महात्मा गांधी,स्वामी विवेकानन्द जैसे शांतिदूत दिए, दक्षिण अफ्रीका ने नेल्सन मंडेला जैसा मानवतावादी नेता, अमेरिका ने महान वैज्ञानिक और दार्शिनिक आदि।दुनिया के सभी देशों ने मानवता को कुछ न कुछ दिया, मगर चीन ने हमेशा से ही मानवता का गलघोटा है।#public issue “hello life” 2020 ईश्वर से शांति तथा मानवता की रक्षा की प्राथना करता है। #save humanityTranslate English :- China is not deterring its expansionary policy, which is making the situation of dispute between India and China on the border, according to reports from some media, between China and Indian troops near midnight on Monday between the two forces in the Galvan valley A situation of skirmish ensued in which 3 Indian soldiers were martyred, along with some Chinese soldiers were injured.At the same time as the entire human corona is in the grip of global epidemic, at the same time China under the expansionist policy of India, Taiwan and South China Sea is showing its grandeur.The situation of the citizens of China with a population of 1.5B is not exactly right, the amendment in the constitution has completely abolished the democratic rights of the citizens of the ruling Communist Party President Xi Chingping.The human rights of the citizens there are being violated.India gave peacekeepers like Gautam Buddha, Mahatma Gandhi, Swami Vivekananda to the world, South African humanitarian leaders like Nelson Mandela, america the great scientists and philosophers etc. All the countries of the world have given something to humanity, but China has always smelled humanity.#public issue “hello life” 2020 pray for peace and protection of humanity from God.#save humanity

humanity #Mahatma Gandhi

#public issue “hello life” 2020 दुनिया में बढ़ रहे हिंसा,नस्लभेद,अत्यचार, का हम विरोध करते है, और हम बात करगें ऐसे व्यक्त्वि की जिन्होंने मानवता की रक्षा की और हमारी इस दुनिया को और भी सुन्दर बनाया।

19वीं सदी के अन्त में,भारत में जन्मे युग पुरुष महात्मा गाँधी का जन्म 2 oct 1869 ई को गुजरात के एक तटीय शहर पोरबंदर में हुआ था। मोहनदास करमचंद गाँधी को महात्मा की उपाधि गुरुदेव रबिन्द्र नाथ टैगोर ने दी, अपने नागरिक अधिकारों के नेतृत्व के लिये जाने जाते है। वह ब्रिटिश शासित भारत में भारतीय स्वतन्त्रा आंदोलन के नेता थे,हालांकि 1948 में उनकी हत्या कर दी गई,लेकिन शांति को बढ़ावा देने के लिये उनके वर्षों के सविनय अवज्ञा ने martin luthar king, junior और nelson mandela सहित कई अन्य नेताओं को प्रभावित किया।

gandhi teaches us about humanity

“आपको मानवता में विश्वास नही खोना चाहिए। मानवता एक महासागर की तरह है; यदि समुद्र की कुछ बूंदे गंदी है,तो समुद्र गंदा नही होता है।”

“You must not lose faith in humanity. Humanity is like an ocean; if a few drops of the ocean does not become dirty.”

“एक आदमी है,लेकिन उसके विचारों का उत्पाद है। वह जो सोचता है, वह बन जाता है।”

“A man is but the product of his thoughts,what hi thinks, he becomes.”

” मनुष्य के रूप में, हमारी महानता दुनिया को रीमेक करने में सक्षम नहीँ है- जो कि परमाणु युग का मिथक है- जैसा कि खुद को रीमेक करने में सक्षम है।”

As human beings,our greatness lies not so much in being able to remake the world -that is the myth of the atomic age -as in being able to remake ourselves.”

“मैं उसे धार्मिक कहता हूँ जो दूसरों की पीड़ा को समझता है।”

I call him religious who understands the suffering of others.”

“कमजोर कभी माफ नहीं कर सकते। क्षमा ताकतवर की विशेषता है।”

“The weak can never forgive. Forgiveness is the attribute of the strong.”

दक्षिण अफ्रीका में ट्रेन यात्रा

31 मई 1893 को, गांधीजी प्रिटोरिया के रास्ते में थे, एक श्वेत व्यक्ति ने प्रथम श्रेणी की गाड़ी में उनकी उपस्थिति पर आपत्ति जताई, और उन्हें ट्रेन के अंत में वैन के डिब्बे में जाने का आदेश दिया गया। गांधीजी, जिनके पास प्रथम श्रेणी का टिकट था, ने इनकार कर दिया और इसलिए उन्हें पीटरमैरिट्जबर्ग में ट्रेन से फेंक दिया गया। स्टेशन के वेटिंग रूम में सर्दियों की रात से कांपते हुए, बापू ने दक्षिण अफ्रीका में रहने और भारतीयों और अन्य लोगों के खिलाफ नस्लीय भेदभाव से लड़ने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया। उस संघर्ष में से अहिंसक प्रतिरोध का उनका अनूठा संस्करण उभरा, “सत्याग्रह”। आज, गांधीजी की एक कांस्य प्रतिमा सिटी सेंटर में चर्च स्ट्रीट पर स्थित है।

आइंस्टीन ने महात्मा गांधी के बारे में क्या कहा था ?

What did Einstein tell about Gandhi?

“Generations to come, it may well be, will scarce believe that such a man as this one ever in flesh and blood walked upon this Earth”. – Albert Einstein

30 jan, 1948  को जब गांधीजी की हत्या हुई और पूरी दुनिया में शोक की लहर फैल गई, तो आइंस्टीन भी विचलित हुए बिना नहीं रहे थे, 11 feb,1948 को वाशिंगटन में आयोजित एक स्मृति सभा को भेजे संदेश में आइंस्टीन ने कहा, ‘वे सभी  लोग जो मानव जाति के बेहतर भविष्य के लिए चिंतित हैं, वे गांधी की  दुखद मृत्यु से अवश्य ही बहुत अधिक विचलित हुए होंगे.अपने ही सिद्धांत यानि अहिंसा के सिद्धांत का शिकार होकर उनकी मृत्यु हुई. उनकी मृत्यु इसलिये हुई की देश में फैली अव्यवस्था और अशांति के दौर में भी उन्होंने किसी भी तरह की निजी हथियारबंद सुरक्षा लेने से इनकार कर दिया. यह उनका दृढ़ विश्वास था कि बल का प्रयोग अपने आप में एक बुराई है, और जो लोग पूर्ण शांति के लिए प्रयास करते है, उन्हें इसका त्याग करना ही चाहिए. अपनी पूरी जिंदगी उन्होंने अपने इसी विश्वास को समर्पित कर दी और अपने दिल और मन में इसी विश्वास को धारण कर उन्होंने एक महान राष्ट्र को उसकी मुक्ति के मुकाम तक  पहुँचाया. उन्होंने करके दिखाया कि लोगो की निष्ठा सिर्फ राजनीतिक धोखाबाजी और धोखेबाजी के धूर्ततापूर्ण खेल से नहीं जीती जा सकती है, बल्कि वः नैतिक रूप से उत्कृष्ट जीवन का जीवंत उदाहरण बनकर भी हासिल की जा सकती है’.
उन्होंने आगे लिखा, ‘पूरी दुनिया में गांधी के प्रति जो श्रद्धा रखी गई, वह अधिकतर हमारे अवचेतन में दबी इसी स्वीकारोक्ति पर आघारित थी कि नैतिक पतन के हमारे युग में वे अकेले ऐसे स्टेट्समैन थे, जिन्होंने राजनीतिक क्षेत्र में भी मानवीय संबंधों की उच्चस्तरीय संकल्पना का प्रतिनिधित्व किया जिसे हासिल करने की कामना हमें अपनी पूरी शक्ति लगाकर अवश्य ही करनी चाहिए. हमें यह कठिन सबक सिखाना ही चाहिए की मानव जाति का भविष्य सहनीय केवल तभी होगा, जब अन्य सभी मामलों की तरह ही वैश्विक मामलों में भी हमारा कार्य न्याय और कानून पर आधारित होगा, न कि ताकत के खुले आतंक पर, जैसा कि अभी तक सचमुच रहा है.’

#public issue “hello life” 2020 हम बात करते रहेंगे उन महापुरुषों के बारे में जिन्होंने पूरी मानव जाति को एक नई सोच,नई ऊर्जा से भर दिया।

                            #save humanity

मानवता #Humanity

आज humanity एक चर्चा का विषय बनता जा रहा, मानवता की रक्षा के लिए विश्व के लोकतान्त्रिक देशों में human right comision कार्यरत है।
इसके गठन का मुख्य उद्देश्य नागरिकों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना उन्हें आर्थिक,  धार्मिक,शैक्षणिक तथा सामाजिक न्याय देना तथा उनके साथ भाषा,लिंग, धर्म जाति,रंगरूप नस्लभेद आदि के आधार पर भेदभाव न करना तथा सभी को अवसर की समानता प्रदान करना है।

#मलाला यूसुफजई Malala yousafzai :- आज पूरी दुनिया इस नाम को जानती है बहादुरी की इस मिसाल को nobel prize से सम्मानित किया जा चूका है,मगर जिस देश से Malala सम्बन्ध रखती है, आज वहा की बेटियां अंग व्यापार, धर्मपरिवर्तन कर उनकी मर्जी के बेगैर शादी करा देना, उनका शोषण करना, कई दिनों तक भूखा रखना, मारना पीटना, कई लोगों द्वारा उनके साथ बलात्कार करना, आखिर international comunity इन सब चीजों को लेकर चुप क्यों रहती है,ये देश कब तक अपने नागरिकों के अधिकारों का हनन करेंगे,अब वक्त दुनिया को एक साथ आवाज़ उठाने का है, ताकि दुनिया का कोई भी देश अपने नागरिकों के अधिकारों का अतिक्रमण न कर सके।

#save humanity :- आज पूरी दुनिया में मानवता ख़तरे में है।

#public issue “hello life” 2020

100 followers

#public issue “hello life” 2020 आज अपने 100 followers का सफर तय कर चुका है, और जो प्यार अपने दिया है उसका मैं सदैव ऋणी रहूँगा।

मैं तो बनारस की गलियों,घाटों पर घूमने वाला उम्मीद ही न था, यहाँ मुझे इतना प्यार मिलेगा। मैंने अपने blog का नाम public issue “hello life” दिया क्योकि यहाँ के लोगों की समस्या कितनी भी क्यों न हो ये अपने life को हमेशा hello बोलकर आगे बढ़ते ही रहते है, यहाँ हर हर महादेव बोलकर आने वाले पलों का स्वागत किया जाता है।

आशा करता हूँ, आप के जीवन में कितने ही problem क्यों न आये आप hello life बोलों और साथ ही साथ har har mahadev फिर देखों सारी problem कैसे दूर भाग जायेगी।

#public issue “hello life” 2020 आप सभी को har har mahadev

Create your website at WordPress.com
Get started